यूपी के तोंदू पुलिस वाले बनेंगे स्मार्ट, वेस्ट यूपी में दी जाएगी ट्रेनिंग

0
40

मेरठ:यूपी पुलिस में मोटे पेट वाले (तोंदू) पुलिस वालों पर अफसरों की नजर टेढ़ी हो गई है। ऐसे पुलिस वालों को अब स्मार्ट बनाया जाएगा। उनको वजन कम करने और चुस्त दुरस्त रहने के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके लिए वेस्ट यूपी के जिलों से तोंदू पुलिस वालों की पहचान करने को कहा गया है।
यूपी पुलिस के बड़ी तादाद अनफिट पुलिस वालों की है। कमर्चारी ही नहीं अफसर भी तोंदू और थुलथुल हो गए हैं। क्राइम कंट्रोल के लिए ऐसे पुलिस वाले बिल्कुल अनफिट साबित होते हैं। पहले पचास की उम्र पार वाले ही तोंदू दिखाई देते थे, लेकिन अब कम उम्र के पुलिस वाले भी अनफिट दिखने लगते हैं। खासकर मोटापा ज्यादा हो रहा हैं। तोंद निकलने के कारण वह किसी क्रिमिनल का पीछा भागकर नहीं कर सकते।

हालांकि पुलिस वालों को अब अफसरों ने फील्ड के काम से हटा रखा है और दफ्तर में लिखा-पढ़ी या वाहन में बैठकर गश्त करने के काम पर लगा रखा है, लेकिन पुलिस वालों की तादाद कम होने के कारण मजबूरी में ऐसे तोंदू पुलिस वालों को जिम्मेदारी देनी पड़ जाती है। हाल ही में एडीजी मेरठ जोन ने कई जिलों के थानों को निरीक्षण किया। बताते हैं कि इस दौरान उनको थानों में काफी पुलिस वाले अनफिट यानी तोंदू दिखाई दिए। हालांकि ऐसे पुलिस वालों को तर्क है कि नौकरी में काम करने का समय तय नहीं होने के चलते वक्त से खाना-पीना और सोना सही से नहीं हो पाता, जिस कारण शरीर प्रभावित हो जाता है।

हालांकि पुलिस वालों को अब अफसरों ने फील्ड के काम से हटा रखा है और दफ्तर में लिखा-पढ़ी या वाहन में बैठकर गश्त करने के काम पर लगा रखा है, लेकिन पुलिस वालों की तादाद कम होने के कारण मजबूरी में ऐसे तोंदू पुलिस वालों को जिम्मेदारी देनी पड़ जाती है। हाल ही में एडीजी मेरठ जोन ने कई जिलों के थानों को निरीक्षण किया। बताते हैं कि इस दौरान उनको थानों में काफी पुलिस वाले अनफिट यानी तोंदू दिखाई दिए। हालांकि ऐसे पुलिस वालों को तर्क है कि नौकरी में काम करने का समय तय नहीं होने के चलते वक्त से खाना-पीना और सोना सही से नहीं हो पाता, जिस कारण शरीर प्रभावित हो जाता है।

शासन का फिलहाल दबाव है कि क्राइम कंट्रोल करने के लिए बदमाशों पर कहर बनकर पुलिस टूटे। लंबे वक्त के बाद पुलिस ने मुठभेड़ करने की अनुमति भी दे दी है। जिसके चलते वेस्ट यूपी में हर दिन पुलिस से बदमाशों की भिड़ंत में या तो क्रिमिनल मारे जा रहे है या फिर जख्मी होकर पकड़े जा रहे हैं। ऐसे में क्रिमिनल से मुकाबला करने को पुलिस वालों को फिट रहना जरूरी हैं। इसलिए अब महकमे के पुलिस वालों फिट रखने की कवायद की जा रही है।

इसकी पहल एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने की हैं। उन्होंने वेस्ट यूपी से नौ जिलों में तोंदू पुलिस वालों की लिस्ट जिलेवार मांगी है, ताकि ऐसे पुलिस वालों को फिट करने के लिए ट्रेनिंग दिलाई जा सके। उनकी तोंद कम कर स्मार्ट बनाया जा सके।