भीषण मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, दो जवान भी शहीद

0
87

श्रीनगर: दक्षिण कश्मीर के अवनीरा में शनिवार शाम भीषण मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकी मारे गए, जबकि दो सैन्यकर्मी भी शहीद हो गए। घटना में तीन अन्य जवान घायल हुए हैं। सुरक्षाबलों ने देर रात तक तीन आतंकियों को अलगाववादी समर्थकभीड़ के भारी पथराव के बावजूद घेरे रखा। हिंसक झड़पों में तीन पुलिसकर्मियों समेत 12 लोग घायल हो गए। हालात को देखते हुए प्रशासन ने शोपियां, कुलगाम और उसके साथ सटे इलाकों में सभी इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है।
कश्मीर के आइजी मुनीर अहमद खान के मुताबिक हिजबुल मुजाहिदीन का कश्मीर में ऑपरेशनल चीफ कमांडर यासीन यत्तु उर्फ मंसूर उल इस्लाम उर्फ खालिद गजनवी उर्फ महमूद गजनवी अपने साथियों संग अवनीरा में आया था। उन्होंने मुठभेड़ में दो जवानों के शहीद होने व तीन के जख्मी होने के साथ ही दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की।

-तीन जवान घायल, पथराव के बावजूद घेरे में फंसे तीन आतंकी
-हिजबुल के 12 आतंकी बैठक के सिलसिले में हुए थे जमा

पता चला है कि हिजबुल के एक दर्जन आतंकी जिला शोपियां के अवनीरा-जेनपोरा इलाके में एक बैठक के सिलसिले में जमा हुए थे। यह आतंकी अवनीरा में अस्तान मोहल्ले में एक मस्जिद में थे। इस सूचना पर सेना व अन्य सुरक्षा बलों ने उन्हें मार गिराने का अभियान शाम साढ़े पांच बजे शुरू किया। इस बीच स्थानीय लोग नारेबाजी करते हुए जमा होने लगे। पथराव की आड़ में पांच से सात आतंकी भाग निकले, लेकिन चार से पांच आतंकी फंस गए। रात आठ बजे बजे पांच सैन्यकर्मी जख्मी हो गए, जबकि एक आतंकी मारा गया। घायल जवानों को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां दो ने दम तोड़ दिया। रात साढ़े नौ बजे सुरक्षाबलों ने दूसरे आतंकी को भी मार गिराया। देर रात तक जिंदा बचे आतंकियों को मार गिराने का अभियान जारी था।

सैन्य मुख्यालय पर आतंकी हमला, जवान जख्मी
उत्तरी कश्मीर के कलारूस में शनिवार तड़के आतंकियों ने सेना की 41 आरआर के मुख्यालय पर हमला किया, जिसमें एक सैन्यकर्मी जख्मी हो गया। सेना ने आतंकियों को शिविर में घुसने नहीं दिया, उन्हें उलटे पांव भागना पड़ा। इलाके की घेराबंदी कर सघन तलाशी अभियान छेड़ दिया गया है। बाद में कुछ आतंकियों ने स्थानीय सैन्यकर्मियों के घरों पर जाकर पर तोडफ़ोड़ करते हुए उनके परिजनों से मारपीट भी की है, लेकिन इसकी पुष्टिï नहीं हो पाई है।

बारूदी सुरंग विस्फोट, सैन्यकर्मी घायल :

वहीं केरन सेक्टर में शनिवार को एलओसी पर एक अग्रिम इलाके में बारूदी सुरंग विस्फोट में एक सैन्यकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना सुबह केरन सेक्टर में बलवीर पोस्ट के इलाके में हुई। गश्त पर निकले सैन्यदल में शामिल राइफलमैन अक्षय कुमार का पांव अचानक एक जगह बिछी बारूदी सुरंग पर पड़ा। इससे हुए जोरदार धमाके में अक्षय कुमार गंभीर रूप से घायल होकर जमीन पर गिर पड़ा। उसे श्रीनगर स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल में लाया गया है। घायल जवान की हालत खतरे से बाहर है।

पेट्रोल बम हमले में दो पुलिसकर्मियों समेत तीन घायल
स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर वादी में किए गए कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच आतंकियों ने शनिवार को डल झील के किनारे पुलिस दल पर पेट्रोल बम से हमला किया। इस हमले में दो पुलिसकर्मियों समेत तीन लोग जख्मी हो गए। कुछ लोग इसे ग्रेनेड हमला भी बता रहे हैं। पुलिस जांच में जुटी हुई है। डल झील के किनारे स्थित बडयारी चौकी, डल गेट में बीते 11 साल के दौरान यह पहला हमला है। इससे पूर्व वर्ष 2006 में आतंकियों ने इसी इलाके में सुरक्षाबलों के एक वाहन पर ग्रेनेड से हमला करने के अलावा पर्यटकों की बस को भी निशाना बनाया था।

जागरण संवाददाता, पुंछ। पाकिस्तानी सेना ने शनिवार को जम्मू संभाग के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ कराने के लिए जमकर गोलाबारी की। कृष्णा घाटी सेक्टर में सीमा पार से दागे गए स्नाइपर शाट में सेना का एक जेसीओ शहीद व एक सिपाही घायल हो गया। वहीं मेंढर में भारतीय सैन्य ठिकानों के साथ रिहायशी इलाकों पर दागे गए मोर्टार में एक महिला की मौत हो गई। कई इमारतों को भी नुकसान पहुंचा है। भारतीय सेना ने भी पाक को मुंहतोड़ जवाब दिया है।
शहीद की पहचान 15 महार रेजिमेंट के जेसीओ जगराम सिंह तोमर, निवासी तारसाना, जिला मोरीना, मध्य प्रदेश के रूप में हुई है, जबकि घायल सिपाही की पहचान मोहित कुमार के रूप में हुई है। सुबह करीब पांच बजे पाक सेना ने मेंढर सेक्टर में आतंकियों के दल को भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कराने के लिए गोलाबारी शुरू कर दी। पाक की इन हरकतों से पहले से वाकिफ भारतीय सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया। आतंकियों को सुरक्षित सीमा पार कराने के लिए हर बार की तरह पाक ने पहले सैन्य चौकियों को निशाना बनाया। भारत ने जब इसका जवाब दिया तो पाक ने ध्यान बंटाने के लिए अपनी बंदूकों के मुंह रिहायशी क्षेत्रों की ओर मोड़ दिए। पाक सेना ने कई मोर्टार दागे, जो सीमांत क्षेत्रों में घरों व अन्य इमारतों पर गिरे। इस दौरान एक मोर्टार मेंढर के गोल्द गांव में एक घर के बाहर गिरा और वहां काम कर रही एक महिला की मौत हो गई। भारतीय सेना ने पाक को करारा जवाब देने के साथ घुसपैठ के प्रयास को नाकाम बना दिया।
कुछ समय चुप रहने के बाद पाक सेना की 642 मुजाहिद यूनिट के साथ तैनात विशेष कमांडों ने कायरतापूर्ण कार्रवाई करते हुए शाम पांच बजे कृष्णा घाटी सेक्टर में भारतीय जवानों पर स्नाइपर शाट दागे। इसमें जेसीओ शहीद व एक जवान घायल हो गया। शहीद के पाॢथव शरीर को सेना के अस्पताल में भेज दिया गया, जबकि घायल को 150 जनरल अस्पताल राजौरी रेफर कर दिया गया है। पांच रोज पहले भी इसी सेक्टर में पाक सेना ने स्नाइपर शाट दाग था, जिसमें 20 कमाऊ यूनिट के सिपाही पवन ङ्क्षसह शहीद हो गए थे। वहीं पाक सेना की गोलाबारी से सीमांत क्षेत्रों में फिर दहशत का माहौल है। सेना के उच्चाधिकारी सीमा पर मौजूद रहकर स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।

भीषण मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, जवान शहीद

-चार जवान घायल, पथराव के बावजूद घेरे में फंसे तीन आतंकी
-हिंसक झड़पों में तीन पुलिस कर्मियों समेत 12 लोग घायल
-हिजबुल के 12 आतंकी बैठक के सिलसिले में हुए थे जमा

राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के अवनीरा में शनिवार शाम भीषण मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन के दो आतंकी मारे गए, जबकि एक सैन्यकर्मी शहीद और चार अन्य जवान घायल हो गए। सुरक्षाबलों ने देर रात तक तीन आतंकियों को अलगाववादी समर्थकभीड़ के भारी पथराव के बावजूद घेरे रखा। ङ्क्षहसक झड़पों में तीन पुलिसकर्मियों समेत 12 लोग घायल हो गए। हालात को देखते हुए प्रशासन ने शोपियां, कुलगाम और उसके साथ सटे इलाकों में सभी इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है।
कश्मीर के आइजी मुनीर अहमद खान के मुताबिक हिजबुल मुजाहिदीन का कश्मीर में ऑपरेशनल चीफ कमांडर यासीन यत्तु उर्फ मंसूर उल इस्लाम उर्फ खालिद गजनवी उर्फ महमूद गजनवी अपने साथियों संग अवनीरा में आया था। उन्होंने मुठभेड़ में एक जवान के शहीद होने व चार जवानों के जख्मी होने के साथ ही दो आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की।
पता चला है कि हिजबुल के एक दर्जन आतंकी जिला शोपियां के अवनीरा-जेनपोरा इलाके में एक बैठक के सिलसिले में जमा हुए थे। यह आतंकी अवनीरा में अस्तान मोहल्ले में एक मस्जिद में थे। इस सूचना पर सेना व अन्य सुरक्षा बलों ने उन्हें मार गिराने का अभियान शाम साढ़े पांच बजे शुरू किया। इस बीच स्थानीय लोग नारेबाजी करते हुए जमा होने लगे। पथराव की आड़ में पांच से सात आतंकी भाग निकले, लेकिन चार से पांच आतंकी फंस गए। रात आठ बजे बजे पांच सैन्यकर्मी जख्मी हो गए, जबकि एक आतंकी मारा गया। घायल जवानों को अस्पताल पहुंचाया गया, जहां एक ने दम तोड़ दिया। रात साढ़े नौ बजे सुरक्षाबलों ने दूसरे आतंकी को भी मार गिराया। देर रात तक जिंदा बचे आतंकियों को मार गिराने का अभियान जारी था।

सैन्य मुख्यालय पर आतंकी हमला, जवान जख्मी
उत्तरी कश्मीर के कलारूस में शनिवार तड़के आतंकियों ने सेना की 41 आरआर के मुख्यालय पर हमला किया, जिसमें एक सैन्यकर्मी जख्मी हो गया। सेना ने आतंकियों को शिविर में घुसने नहीं दिया, उन्हें उलटे पांव भागना पड़ा। इलाके की घेराबंदी कर सघन तलाशी अभियान छेड़ दिया गया है। बाद में कुछ आतंकियों ने स्थानीय सैन्यकर्मियों के घरों पर जाकर पर तोडफ़ोड़ करते हुए उनके परिजनों से मारपीट भी की है, लेकिन इसकी पुष्टिï नहीं हो पाई है।

बारूदी सुरंग विस्फोट, सैन्यकर्मी घायल : वहीं केरन सेक्टर में शनिवार को एलओसी पर एक अग्रिम इलाके में बारूदी सुरंग विस्फोट में एक सैन्यकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया। घटना सुबह केरन सेक्टर में बलवीर पोस्ट के इलाके में हुई। गश्त पर निकले सैन्यदल में शामिल राइफलमैन अक्षय कुमार का पांव अचानक एक जगह बिछी बारूदी सुरंग पर पड़ा। इससे हुए जोरदार धमाके में अक्षय कुमार गंभीर रूप से घायल होकर जमीन पर गिर पड़ा। उसे श्रीनगर स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल में लाया गया है। घायल जवान की हालत खतरे से बाहर है।

पेट्रोल बम हमले में दो पुलिसकर्मियों समेत तीन घायल
स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर वादी में किए गए कड़े सुरक्षा बंदोबस्त के बीच आतंकियों ने शनिवार को डल झील के किनारे पुलिस दल पर पेट्रोल बम से हमला किया। इस हमले में दो पुलिसकर्मियों समेत तीन लोग जख्मी हो गए। कुछ लोग इसे ग्रेनेड हमला भी बता रहे हैं। पुलिस जांच में जुटी हुई है। डल झील के किनारे स्थित बडयारी चौकी, डल गेट में बीते 11 साल के दौरान यह पहला हमला है। इससे पूर्व वर्ष 2006 में आतंकियों ने इसी इलाके में सुरक्षाबलों के एक वाहन पर ग्रेनेड से हमला करने के अलावा पर्यटकों की बस को भी निशाना बनाया था।