पनवेल में हुआ मासखमण तप का अभिनंदन

0
101

नवी मुंबई: पनवेल श्री संघ के तत्वाधान में मेवाड़ भवन पनवेल के प्रांगण में विराजमान महासती डॉक्टर अक्षय ज्योति महाराज के सानिध्य में मसखमण तप अभिनंदन भव्य कार्यक्रम का आयोजन संपन्न हुआ। यह मासखमण तप शैलेंद्र मुणोत ने अपने दृढ़ मनोबल के चलते पूरा किया। जिसके उपलक्ष्य में तप अभिनंदन का भव्य कार्यक्रम का आयोजन हुआ। इस अवसर पर महासती अक्षय ज्योति महाराज साहब ने अभिनन्दन करते हुए कहा जैन धर्म तप प्रधान धर्म है तप से कर्मों की निर्जरा होती है तप एक ज्योति है तब एक ज्वाला है अज्ञान के अंधेरे दूर होते हैं इसलिए वह ज्योति हैं राग और द्वेष के कर्मों का कचरा जलता है इसलिए वाला है महावीर ने तप के माध्यम से अपने कर्मों की निर्जला की संघ ओर से अभिनंदन पत्र शहर एवं माला एवं सोने की चेन के द्वारा तपस्वी का अभिनंदन किया गया। अभिनंदन पत्र राजेश बाठीया ने पढ़ा संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी राजेंद्र बांठिया, नितिन मुनोथ, आनंदीलाल सुराणा, अशोक बोहरा द्वारा पारस हिगड, ललित चंडालिया, मनीष सुराणा, महेंद्र कुकडा, जयंती परमार, शीतल बांठिया, मनोज मुनोत, नीरज कोठारी, विजय बोहरा, प्रकाश टुकलिया, सागर कोठारी आदि उपस्थित थे। मुंबई से सुरेश सोनी इचलकरंजी से महेंद्र मोथा का सम्मान किया गया। आज के प्रभावना के लाभार्थी जवेरचंद गांधी शैलेंद्र मुणोत ज्योति मुनोथ अपने विचार रखे रणजीत कांग्रेचा ने सभा का सुंदर संचालन किया।