UN में पाक का कश्मीर मुद्दे को उठाना ‘मियां की दौड़ मस्जिद तक’ की तरह: अकबरुद्दीन

    0
    46

    न्यू यॉर्क:संयुक्त राष्ट्र (यूएन) महासभा में पाकिस्तान द्वारा कश्मीर मुद्दे को उठाने के फैसले पर भारत ने उसे उर्दू के एक मुहावरे का प्रयोग करते हुए करारा जवाब दिया है। यूएन में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान का नाम लिए बिना कहा कि उसका यह फैसला ‘मियां की दौड़ मस्जिद तक’ की तरह है।
    अकबरुद्दीन के मुताबिक, भारत सोमवार से शुरू हो रही संयुक्त राष्ट्र महासभा के दौरान प्रगतिशील, फॉरवर्ड लुकिंग अजेंडे पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। जब अकबरुद्दीन से पाकिस्तान द्वारा यूएन महासभा में कश्मीर मुद्दे उठाने की योजना से जुड़ा सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘हम अपनी अप्रोच को साफ कर चुके हैं, जोकि प्रगतिशील है। दूसरी तरफ ऐसे देश भी हैं, जो कल के मुद्दों पर ध्यान केंद्रित किए हुए हैं, इस तरह लोग कल के ही लोग हैं।’
    अकबरुद्दीन ने कहा, ‘अगर वह (पाकिस्तान) एक ऐसे मुद्दे पर फोकस करता है, जो पिछले कई दशकों से संयुक्त राष्ट्र की बातचीत की मेज पर भी नहीं रहा है, तो उनका ऐसा करना ‘मियां की दौड़ मस्जिद तक की’ तरह होगा।
    इसके अलावा अकबरुद्दीन ने कहा, ’40 सालों से इस मुद्दे पर (कश्मीर मुद्दे पर) संयुक्त राष्ट्र में औपचारिक रूप से चर्चा भी नहीं हुई है। अगर कोई इसे उठाता तो वह वक्त ही बर्बाद करेगा।’
    बता दें कि इस हफ्ते पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करने वाले हैं। इसके बाद भारत की तरफ से विदेश मंत्री सुषमा स्वराज 23 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपना भाषण देंगी। बता दें कि पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने एक दिन पहले ही कहा है कि प्रधानमंत्री अब्बासी संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे।