पुलिस की गिरफ्त में आया 37 साल से फरार हत्या का दोषी

0
26

पीलीभीत:हत्या का आरोपी 70 साल का एक शख्स पिछले 37 साल से फरार था लेकिन आखिर कानून के हाथ उस तक पहुंच गए। उसे पकड़ लिया गया। अदालत ने उसे उम्रकैद की सजा सुनाई है।
गुरमीत सिंह को 1978 में हत्या का दोषी पाया गया था। शुक्रवार को उसे पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने डिस्ट्रिक पुलिस हेडक्वॉर्टर में पत्रकारों के सामने पेश किया।
मजबूत सबूतों के आधार पर सिंह को जिला एवं सत्र न्यायालय ने 1980 में आजीवन कारावास दिया गया। सिंह ने फैसले के खिलाफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की। इस बीच उसने अदालत में पैरोल की याचिका दायर की। जब सिंह जेल से बाहर था, उसकी अपील हाईकोर्ट ने रद्द कर दी। इसके बाद वह भाग गया।
नैथानी ने बताया, ‘सिंह पहले पंजाब गया और वहां गुरुद्वारों में रहा। अगले 37 साल तक वह लगातार जगह बदलकर रहता रहा। पहचान जाहिर न हो इसलिए वह एक स्थान पर ज्यादा वक्त तक नहीं रुका।’
नैथानी ने बताया कि फरार और अंडर ट्रायल आरोपियों की जांच के दौरान सिंह का रेकॉर्ड सामने आया। पुलिस ने अपने मुखबिर नेटवर्क का इस्तेमाल किया और अंत में सिंह को उसके पैतृक गांव से पकड़ लिया। वह उस समय उत्तराखंड के एक गुरुद्वारे के लिए निकल रहा था।’
नैथानी ने बताया, ‘जिस अदालत में सिंह का केस चला था हम वहां से उसके अपराधों का पूरा रिकॉर्ड तलाशने की कोशिश कर रहे हैं। इसमें कुछ समय लगेगा क्योंकि यह मुकदमा करीब 4 दशक पुराना है।