ब्लू वेल गेम का चैलेंज पूरा करने के लिए 14 साल के लड़के ने की आत्महत्या

0
70
मृतक किशोर के घर में उसके परिवार के सदस्य

कोलकाता। कुख्यात ब्लू वेल गेम के कारण भारत में एक और व्यक्ति के आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। शनिवार को पश्चिमी बंगाल के मिदनापुर में 10वीं के एक छात्र ने दम घोंटकर आत्महत्या कर ली। उसे ब्लू वेल ऑनलाइन गेम में खुदकुशी करने की चुनौती दी गई थी।
खबरों के अनुसार, पश्चिमी मिदनापुर के आनंदपुर शहर में 14 साल के अंकन ने एक प्लास्टिक की थैली से अपना मुंह ढका और रस्सी से अपनी गर्दन को कसते हुए गांठ मार ली। दम घुटने के कारण अंकन की मौत हो गई। मृतक के पिता का कहना है कि शनिवार को अंकन स्कूल से लौटकर घर आया। घर पर उसकी मां ने उससे खाना खाने को कहा, लेकिन अंकन ने यह कहकर इनकार कर दिया कि वह नहाने के बाद खाना खाएगा। बाद में घरवालों ने अंकन को जमीन पर बेहोश पड़े हुए देखा। उसके शरीर में कोई हरकत नहीं थी। उसे तत्काल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।
खबरों के मुताबिक, अंकन को जब आखिरी बार देखा गया था तब वह ब्लू वेल खेल रहा था। इस ऑनलाइन गेम के कारण लोगों द्वारा की जाने वाली आत्महत्या से जुड़ी यह पहली खबर नहीं है। यह गेम यूरोप और रूस में अबतक 150 से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है। भारत में भी इससे जुड़ी कई घटनाएं सामने आ गई हैं। गुरुवार को इंदौर में एक 13 साल के लड़के ने इसी गेम के कारण इमारत की तीसरी मंजिल से नीचे कूदकर जान देने की कोशिश की। यह घटना इंदौर के चमेली देवी स्कूल की है। 8वीं में पढ़ने वाला एक छात्र स्कूल परिसर में स्थित एक इमारत की तीसरी मंजिल पर स्थित बालकनी की रेलिंग को चढ़ने की कोशिश करता हुआ पाया गया। दोस्तों और शिक्षकों की कोशिश के कारण उसकी जान बचा ली गई।
इस गेम में यूजर को पहले एक कागज पर वेल की आकृति बनाने का निर्देश दिया जाता है। इसके बाद उसे अपने शरीर पर वेल बनाने को कहा जाता है। इसके बाद उसे और भी चुनौतियां दी जाती हैं। इनमें अकेले बैठकर डरावनी फिल्म देखने जैसी चुनौतियां भी शामिल हैं। इस खेल की आखिरी और निर्णायक चुनौती के तौर पर यूजर को आत्महत्या करने का चैलेंज दिया जाता है। 1 अगस्त को यही चुनौती पूरी करने के लिए मुंबई में रहने वाला एक 14 वर्षीय लड़का अपने घर की छत से नीचे कूद गया था।