छह दिन में 56 यात्री काल के गाल में, मध्य रेलवे बनी मौत की लाइन

0
52
मध्य रेलवे बनी मौत की लाइन

मुंबई : दिनों दिन बढती रेलवे में दुर्घटना से रेलवे लाइफ लाइन नहीं बल्कि डेथ लाइन साबित हो रही है। पिछले छह दिनों में मुंबई के तीनो मार्गो में घटी दुर्घटना से लगभग 56 यात्रियों की जाने गईं जबकि 76 यात्री घायल हुए। मात्र शुक्रवार को लगभग 13 यात्रियों की ही मौत की खबर सामने आई।
रेलवे प्रशासन की तरफ से दुर्घटना से बचने के लिए कई कदम उठाये जा रहे हैं बावजूद इसके यात्रियों के दुर्घटना की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। रेलवे के द्वारा जारी किये गये एक आंकड़े के अनुसार शुक्रवार के दिन ही रेलवे में घटी दुर्घटना से 13 यात्रियों की मौत हो गई जबकि 14 लोग जख्मी हो गए। अभी भी की मृतकों की पहचान नहीं हो पाई है। रेलवे के अनुसार सबसे अधिक दुर्घटना पटरी पार करते समय घटी।
इसके अलावा रेलवे ने दुर्घटना के अन्य कारण भी बताए हैं जिनमें चलती ट्रेन से गिरना, खंभे से टकराना, ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच के गैप में गिरना, पटरी पर आत्महत्या करना और प्राकृतिक मौते भी शामिल हैं। सबसे अधिक मौते मध्य रेलवे में घटी हैं।

स्टेशन  मृतको की संख्या  घायलों की संख्या 
सीएसएमटी 5 7
दादर 1 1
कुर्ला 8 4
ठाणे 2 4
डोम्बिवली 1 3
कल्याण 6 11
कर्जत 2 1
वडाला 7 5
वाशी 2 2
पनवेल 0 0
चर्चगेट 1 3
मुंबई सेन्ट्रल 1 11
बांद्रा 3 0
अंधेरी 0 7
बोरीवली 10 8
वसई रोड 4 4
पालघर 3 5
कुल  56 76