कुपवाड़ा में सेना के कैंप पर आतंकी हमला, मेंढर में पाक ने तोड़ा सीजफायर

0
110

जम्‍मू:जम्‍मू-कश्‍मीर के कुपवाड़ा में आतंकवादियों ने सेना के कैंप को निशाना बनाया है। सेना के 41 राष्‍ट्रीय राइफल हैडक्‍वार्टर पर फायरिंग की गई है। आतंकियों की तरफ से लगभग 10 मिनट तक गोलीबारी की गई। इस दौरान सेना का एक जवान घायल हो गया। सेना ने जब जवाबी कार्रवाई शुरू की तो आतंकी भाग खड़े हुए। इसके बाद सेना ने पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी कर दिया है।
हमले के बाद भाग निकले आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर सघन तलाशी अभियान छेड़ दिया है। सैन्य प्रतिष्ठान पर हमले के अलावा आतंकियों ने कलारुस और उसके साथ सटे इलाकों में कुछ स्थानीय सैन्यकर्मियों के घरों पर भी जाकर कथित तौर पर तोड़-फोड़ करते हुए उनके परिजनों से मारपीट की है। लेकिन इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है।
कुपवाड़ा से मिली सूचनाओं में बताया गया है आज तड़के करीब ढई बजे आतंकियों ने कलारुस स्थित 41 आरआर के शिविर पर अपने स्वचालित हथियारों के साथ तीन तरफ से हमला किया। जवानों ने भी अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर कर, शिविर में दाखिल होने के आंतकियों के मंसूबे को नाकाम बना दिया। करीब दस मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चली और इसके बाद आतंकी वहां से भाग निकले। लेकिन इस दौरान सेना की 21 जैकलाई का एक जवान जख्मी हो गया। यह शीविर कलारुस जंगल के ऊपरी हिस्से में एलओसी के साथ सटे इलाके में है।
घायल जवान को निकटवर्ती द्रगमुला स्थित सैन्य अस्पताल में उपचार के लिए दाखिल कराया गया है। हमले के फौरन बाद सेना के जवानों ने शिविर के आस-पास के इलाके के अलावा कुन्नाड़, कानी बहक, मनिगाह, चट जंगल, बटपोरा और हयहामा में पैरा कमांडो दस्ते के साथ एक सघन तलाशी अभियान चलाया। इस खबर के लिखे जाने तक यह अभियान जारी था।
गौरतलब है कि 15 अगस्त केमददेनजर खुफिया एजेंसियों ने  वादी में सभी सुरक्षा एजेंसियों के लिए एलर्ट जारी करते हुए बताया है कि आतंकी अगले चार-पांच दिनों के दौरान कुछ महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों, हाईवे के अलावा सुरक्षाबलों के शीविरों पर हमला कर सकते हैं।
इधर जम्मू-कश्मीर के मेंढर सेक्टर में पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन किया है। पाकिस्‍तान की ओर से हुई भारी गोलीबारी में एक महिला की मौत हो गई है। इस महिला की उम्र 45 साल बताई जा रही है। आज तड़के से ही पाकिस्‍तान की ओर से सीजफायर का उल्‍लंघन किया गया, जिसमें भारी मात्रा में मोर्टार दागे गए, जिससे कई घरों को भी नुकसान पहुंचा है।
उड़ी सेक्‍टर में भी पाक ने किया सीजफायर
उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर कुछ दिनों की खामोशी के बाद पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार को सूर्यास्त के साथ संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। पाकिस्तानी सैनिकों ने उड़ी सेक्टर में भारतीय ठिकानों पर गोलीबारी शुरू कर दी। भारतीय जवानों ने भी इसका मुहंतोड़ जवाब दिया। फिलहाल, किसी भी पक्ष को हुए नुकसान की जानकारी नहीं मिल पाई है। सेना ने पूरे उत्तरी कश्मीर में अलर्ट घोषित कर दिया है। सेना की उत्तरी कमान के जीओसी-इन-सी लेफ्टिनेंट जनरल डी अनबू ने गुरुवार को उत्तरी कश्मीर के अग्रिम इलाकों का दौरा कर सैन्य तैयारी का जायजा लिया था।
शुक्रवार शाम करीब 6.25 बजे पाकिस्तानी सैनिकों ने कमलकोट इलाके में भारतीय सेना की 20 सिख रेजिमेंट और आठ आरआर की चौकियों को निशाना बनाया। उन्होंने बताया कि एलओसी पार स्थित पाकिस्तानी सेना की जंगल-एक, जंगल-दो व जंगल-तीन चौकी से मोर्टार व मध्यम दर्जे के हथियारों से गोलीबारी हुई। भारतीय जवानों ने शुरू में संयम बरता, लेकिन करीब सात बजे जब सरहद पार से गोलाबारी तेज होने लगी तो भारतीय जवानों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तानी खेमे पर ताबड़तोड़ गोलाबारी शुरू कर दी।