रिसर्च: अब ये दवा कीमोथेरेपी के दर्द से दिलाएगी निजात

0
44

ब्रिटेन की रिसर्च टीम बाजार में मौजूद मेलाटोनिन दवा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी हासिल करने में कामयाब हुए हैं। रिसर्च टीम के मुताबिक मेलाटोनिन कैंसर दवाओं के कष्टदायी प्रभावों को रोक सकती है। यह दवा तंत्रिकाओं को नुकसान पहुंचाने वाली कीमोथेरेपी से होने वाले दर्द से बचाने में कारगर है। इसके अलावा इस दवा से कीमोथेरेपी के कारण तंत्रिका स्वास्थ्य पर पड़ने वाले खतरनाक प्रभावों को भी रोका जा सकता है।

बता दें कि दवा की खोज की प्रोसेस में शोधकर्ताओं ने कीमोथेरेपी के कारण नसों में होने वाले दर्द की एक सामान्य दशा पर ध्यान लगाया, जिसके कारण स्पर्श करने या ठंडे तापमान में सिहरन और दर्द महसूस होता है। यह दर्द इतना तेज हो सकता है कि मरीज बीच में ही कीमोथेरेपी इलाज को बंद कर दे।
एक अनुमान के मुताबिक कीमोथेरेपी ले रहे लगभग 70 प्रतिशत मरीज इस दर्द से प्रभावित होते हैं और यह जिंदगी पर शरीर पर गंभीर प्रभाव डाल सकता है।

शोधकर्ताओं ने अपने शोध में दर्शाया है कि कीमोथेरेपी से पहले मेलाटोनिन देने से नसों पर नुकसानदायक प्रभावों और दर्द के लक्षणों को बढ़ने से रोका जा सकता है।
शोधकर्ताओं ने कहा कि मेलाटोनिन तब दर्द को कम नहीं करती जब ये दर्द पहले से ही शुरू हो गया हो। इसलिए यदि इस दवा का फायदा लेना है तो इसे शुरू से ही लेना चालू करना चाहिए।