‘शहाबुद्दीन से बातचीत’ पर लालू ने किया अपना बचाव, नीतीश को कोसा

0
41

नई दिल्ली। महागठबंधन टूटने के बाद RJD चीफ लालू यादव पहली बार रविवार को बिहार के सीवान पहुंचे। यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए लालू ने महागठबंधन टूटने का जिम्मेदार नीतीश को ठहराते हुए ‘शहाबुद्दीन से बातचीत’ मामले पर अपना बचाव भी किया।
सीवान के दारोगा राय कॉलेज में आयोजित सभा में लालू ने कहा, ‘हम पर आरोप लगा कि लालू यादव ने अपराधी से बात की। एक टीवी पर यही चला कि कैसे बात कर सकते हैं। हमने कहा नीतीश कुमार अनंत सिंह से कैसे बात कर सकते हैं?’ इसके बाद लालू बोले, ‘बातचीत में हमने कुछ कहा है क्या? बातचीत में शहाबुद्दीन जी ने मुझे कुछ कहा है क्या कि गेट खुलवा दीजिए, हम निकल जाएं।’
दरअसल पिछले दिनों एक न्यूज चैनल पर लालू और तिहाड़ जेल में बंद सीवान से RJD के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के बीच बातचीत का एक ऑडियो टेप सुनाया गया था। इस टेप के सामने आने के बाद बिहार का सियासी पारा इतना चढ़ा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस टेप की जांच का आदेश दे दिया दिया था।
लालू के भाषण से पहले भारी बारिश हो गई थी, फिर भी लोगों का परिसर में आना जारी रहा और भाषण शुरू होने तक लोगों की अच्छी-खासी भीड़ वहां मौजूद थी। इस बात की जानकारी खुद लालू ने ट्वीट करके दी कि मैदान गीला होने के बावजूद कॉलेज परिसर में जनता की भारी भीड़ यहां जमा है।
अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि महागठबंधन सरकार के गिरने से लोगों में आक्रोश चरम पर है। भीड़ में कोई नीतीश नहीं, सब वफादार हैं। इस रैली में JDU नेता अवध बिहारी चौधरी भी मौजूद थे। इस रैली के साथ ही वह वापस RJD में शामिल हो गए। वह पहले भी लालू के करीबी रहे हैं।