गुजरात सरकार बांटेगी 3.5 लाख टेबलेट

0
107

अहमदाबाद: डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने के लिए गुजरात की रूपाणी सरकार ने साढ़े तीन लाख टेबलेट बांटने की घोषणा की है। अहमदाबाद में एक हजार छात्र व छात्राओं को नमो टेब बांटकर रूपाणी ने इसकी शुरुआत की। सरकार एक हजार की टोकन मनी पर यह टैब दे रही है।
मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अहमदाबाद के यूनिवर्सिटी कनवेंशन हॉल में एक समारोह में नमो टैब का वितरण किया। रूपाणी ने यहां कहा कि न्यू इंडिया के छात्र-छात्राएं दुनिया से कदम से कदम मिलाते हुए अपनी हथेली में पूरे विश्व को समा सकती हैं। नमो टैब प्रदेश के प्रतिभाशाली बच्चों के जीवन में एक नई किरण लाएगा। रूपाणी ने बताया एक हजार रुपये की टोकन राशि लेकर सरकार साढे़ तीन लाख नमो टैब बांटेगी। यह टैब बारहवीं उत्तीर्ण कर कालेज में प्रथम वर्ष में अथवा पालिटेक्निक में अध्ययन कर रहे छात्र-छात्राओं को बांटे जाएंगे। सरकार इस पर 200 करोड़ रुपये खर्च करेगी तथा टैब से मिलने वाले साढ़े तीस करोड़ रुपये भी स्कूल कालेज व विश्वविद्यालय परिसरों को वाई-फाई युक्त, ई-क्लास, ई-लेक्चर, ई-लाइब्रेरी आदि सुविधा पर खर्च किए जाएंगे।
मेड इन चाइना टैब :भारत व चीन में सीमा विवाद के बीच मेड इन चाइना टेबलेट बांटने को लेकर सोशियल मीडिया में सरकार की खूब आलोचना भी हो रही है। सरकार लेनोवो कंपनी के साढे़ तीन लाख टेबलेट वितरित करने वाली है। जहां एक ओर फेसबुक व वाट्सएप पर चाइनीज माल के बहिष्कार के मैसेज चल रहे हैं तथा सीमा पर सेना के साथ तनातनी चल रही है। ऐसे माहौल में सरकार का चाइनीज प्रेम विवाद पैदा कर सकता है।