सरकार ने क्रूड पाम ऑयल की इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाई

0
40

नई दि‍ल्‍ली:एजेंसी। सरकार ने सस्‍ते आयात को रोकने और घरेलू कि‍सानों और रीफाइनर्स को लोकल प्राइस के लि‍ए सपोर्ट देने के मकसद से क्रूड पाम ऑयल पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ा दि‍या है। सरकार ने क्रूड पाम ऑयल की इंपोर्ट ड्यूटी को 7.5 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दि‍या है और राइन्‍ड पर 15 फीसदी से बढ़ाकर 25 फीसदी कर दि‍या है।
 सेंट्रल बोर्ड ऑफ एक्‍साइज एंड कस्‍टम (सीबीईसी) की ओर से जारी नोटि‍फि‍केशन के मुताबि‍क, दूसरे कच्‍चे खाद्य तेलों जैसे सोया और सनफ्लावर पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को 12.5 फीसदी से बढ़ाकर 17.5 फीसदी कर दि‍या गया है।
मलेशि‍या और इंडोनेशि‍या से आ रहा है सस्‍ता तेल
 क्रूड और रीफाइन्‍ड पाम ऑयल पर इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ाने से मलेशि‍या और इंडोनेशि‍या से आने वाले सस्‍ते इंपोर्ट को कम करने में मदद मि‍लेगी, साथ ही कि‍सानों को फायदा पहुंचेगा। बंपर प्रोडक्‍शन की वजह से कि‍सानों को ति‍लहन की कीमतें मि‍नि‍मम सपोर्ट प्राइस से कम हो गई हैं। जि‍सकी वजह से कि‍सानों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।
 सरकार ने बनाई थी कमि‍टी
 27 जुलाई को वि‍त्‍त मंत्री अरुण जेटली की अध्‍यक्षता में अंतर-मंत्रि‍मंडल पैनल ने देश में खाद्य तेल की उपलब्‍धता की समीक्षा की और बढ़ने इंपोर्ट के नि‍पटने के रास्‍तों पर चर्चा की। इसके बाद, सस्‍ते कुकिंग ऑयल के आयात को चेक करने के लि‍ए इंपोर्ट ड्यूटी के स्‍ट्रक्‍चर को देखने के मकसद से एक कमि‍टी बनाई गई।
इंडस्‍ट्री को मि‍ली राहत
 खाद्य तेल इंडस्‍ट्री बॉडी सॉल्‍वेंट एक्‍सट्रेक्‍टर्स एसोसि‍एशन (एसईए) ने इस कदम का स्‍वागत करते हुए कहा कि‍ इससे किसानों को मदद मि‍लेगी। साथ ही, डोमेस्‍टि‍क प्रोसेसर्स को सपोर्ट मि‍लेगा।

Source: Shilpkar