येचुरी और करात का विवाद बढ़ा!

0
39

देश की सबसे बड़ी कम्युनिस्ट पार्टी सीपीएम के महासचिव सीताराम येचुरी और पिछले महासचिव प्रकाश करात का विवाद बढ़ गया है। पार्टी के वरिष्ठ नेता, पोलित ब्यूरो के सदस्य और सेंट्रल कमेटी भी उनका विवाद नहीं सुलझा पा रही है। सीपीएम में पहले भी बंगाल बनाम केरल लॉबी का विवाद चलता था, लेकिन पहले कभी भी इस तरह दो शीर्ष नेताओं के बीच टकराव नहीं हुआ था। राज्यों में जरूर टकराव होते थे, लेकिन केंद्र में पार्टी एकजुट रहती थी।

पर अब कहा जा रहा है कि विपक्ष की राजनीति में सीताराम येचुरी की सक्रियता से करात खुश नहीं हैं और उनको लग रहा है कि पार्टी के सिद्धांतों का क्षरण हो रहा है। कांग्रेस के साथ पश्चिम बंगाल चुनाव में तालमेल को लेकर विवाद शुरू हुआ था और अब पार्टी के सांसद रितब्रत भट्टाचार्य को निलंबित करने तक पहुंच गया है। जानकार सूत्रों के मुताबिक येचुरी उनके खिलाफ कार्रवाई के पक्ष में नहीं थे। लेकिन करात खेमे में सख्त कार्रवाई का दबाव बनाया। उनके ऊपर बहुत शाही जीवन शैली रखने का आरोप है।

अब कहा जा रहा है कि रितब्रत भट्टाचार्य पाला बदल सकते हैं। तृणमूल कांग्रेस से अलग होकर पार्टी बनाने की तैयारी कर रहे सांसद मुकुल रॉय के साथ वे भी उसमें जुड़ सकते हैं। पार्टी के जानकार सूत्रों का कहना है कि करात बनाम येचुरी का विवाद अगले साल होने वाली पार्टी कांग्रेस में भी दिखेगा। पार्टी कांग्रेस में अगले लोकसभा चुनाव की रणनीति पर विचार होना है। पार्टी के जानकार नेताओं का कहना है कि असली विवाद बृंदा करात की राज्यसभा सीट को लेकर था। वे दोबारा राज्यसभा नहीं जा सकीं, जबकि येचुरी दूसरी बार भी गए। तभी येचुरी को तीसरी बार राज्यसभा जाने से रोका गया है और बृंदा करात अगले साल केरल से राज्यसभा में जाएंगी।