तीन वरिष्ठ आईएएस अधिकारियों को दिया गया कम्पलसरी रिटायरमेंट

0
55

रायपुर: केंद्र सरकार ने छत्‍तीसगढ़ कैडर के दो वरिष्‍ठ आइएएस अधिकारी बीएल अग्रवाल व अजय पाल सिंह और मध्‍य प्रदेश के एक अन्‍य आइएएस अधिकारी को कम्पलसरी रिटायरमेंट दे दिया है। छत्‍तीसगढ़ में शिकायत मिलने के बाद पिछले हफ्ते ही दो आइपीएस आधिकारियों को भी बाहर का रास्‍ता दिखाया गया था।
केंद्र सरकार द्वारा पिछले 6 महीने में आठ आइपीए और आइएएस अधिकारियों को बाहर किया है। इनमें से पांच छत्‍तीसगढ़ से हैं। 1998 बैच के अग्रवाल को फरवरी महीने में सीबीआइ ने रिश्‍वत से जुड़े मामले में गिरफ्तार किया था। तभी से अग्रवाल निलंबित चल रहे थे। अग्रवाल पर सीबीआई को रिश्वत देने का आरोप है। अग्रवाल, हाल के दिनों में कई महीने तक दिल्ली की तिहाड़ जेल में रहे। उन पर सेल कंपनियों के जरिए 2010 में करोड़ों रुपए की हेराफेरी करने का आरोप था।
वहीं 1986 बैच के अजय पाल सिंह को एसीआर के चलते सेवा से बाहर किए गए. वे भी टूरिज्म, कृषि उत्पादन और सामान्य प्रशासन जैसे विभागों में प्रिंसिपल सेक्रेट्री पद पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। बताया जा रहा है कि बीएल अग्रवाल व अजय पाल सिंह ने अपने कम्पलसरी रिटायरमेंट के निर्णय को अदालत में चुनौती देने का फैसला किया है।
मध्यप्रदेश के 1985 बैच के अधिकारी एमके सिंह पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं। राज्य शिक्षा केन्द्र में आयुक्त रहते हुए की गई खरीदी में भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते सरकार ने उन्हें दंडित भी किया है। मुख्‍य सचिव बीपी सिंह ने कम्पलसरी रिटायरमेंट की खबरों की पुष्टि की है।