कर्नल की बीवी से अडल्टरी पड़ी भारी, मेजर जनरल नहीं बन पाएगा ब्रिगेडियर

0
42

नई दिल्ली। सेना के एक ब्रिगेडियर को कर्नल की पत्नी के साथ अडल्टरी का खामियाजा भुगतना पड़ा। ब्रिगेडियर को कोर्ट मार्शल कर कड़ी सजा के रूप में उसकी वरिष्ठता के 10 साल कम कर दिए गए, उन्हें प्रमोशन नहीं मिलेगा। ब्रिगेडियर पर मिलिटरी ट्रायल के दौरान कर्नल की पत्नी के अडल्टरी का आरोप था।
ब्रिगेडियर को मिली इस सजा का मतलब है कि अगर वह सेना में अपनी सर्विस बरकरार रखना चाहते हैं तो उन्हें अगला प्रमोशन यानी मेजर जनरल का पद नहीं मिलेगा, वह जब तक सर्विस में हैं, तब तक ब्रिगेडियर के पद पर ही रहेंगे।
सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मीठी-मीठी भाषा का इस्तेमाल कर साथी अफसर की पत्नी को सेक्स्युअल अफेयर के लिए आकर्षित करना सेना में गंभीर अपराध माना जाता है। ऐसे मामलों में सजा स्वरूप कई बार अधिकारी को बगैर पेंशन सेना से बर्खास्त कर दिया जाता है। अधिकारी ने कहा, ‘ब्रिगेडियर को कम सजा मिली है क्योंकि वह खुदपर लगे आरोपों पर शर्मिंदा थे।’
ब्रिगेडियर पर कुल 13 आरोप हैं, जिनमें अडल्टरी, आधिकारिक दस्तावेजों से छेड़छाड़, नियमों और सेना के अनुशासन का उल्ल्ंघन आदि शामिल हैं।
पिछले कुछ वर्षों में सेना में कई सेक्स स्कैंडल्स सामने आए। भारतीय वायुसेना का एक फाइटर पायलट पर एक वरिष्ठ अधिकारी की पत्नी के साथ अफेयर का आरोप लगा था। इसके अलावा, मुंबई में नेवी के दो कमांडर रैंक के अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया गया था। इनमें से एक पर विवाहेत्तर संबंध और दूसरे पर कई महिलाओें को अश्लील मेसेज भेजने का आरोप था।