कांदिवली में त्रिदिवसीय आवासीय प्रेक्षाध्यान शिविर का आगाज हुआ

0
81

मुंबई:महातपस्वी महामनस्वी आचार्य महाश्रमण की प्रबुद्ध सुशिष्या साध्वी श्री अणिमा श्री एवं साध्वी वृन्द के सांनिध्य में त्रिदिवसीय आवासीय प्रेक्षाध्यान शिविर का आयोजन हुआ। कार्यक्रम की शुरुवात नमस्कार मन्त्र द्वारा हुई। साध्वी अणिमा श्री ने अपने उदबोधन में कहा कि प्रेक्षाध्यान वह संपदा है, जो आप के साथ हमेशा रहेगी। आप अपने शरीर को खो देंगे तो भी आप के साथ रहेगी। जब कोई सन्त वैराग्य करते है, तो कुछ संकल्प करते है।उसी प्रकार प्रेक्षा ध्यान के कुछ संकल्प है। जीवन जी रहे है, तो क्रिया जरूरी है, परन्तु प्रतिक्रिया न करे। संकल्प करना है, प्रतिक्रिया से बचूँगा, मैत्री का भाव रखे। साध्वी श्री अणिमा श्री ने उपस्थित साधको को संकल्प कराया। प्रमुख प्रशिक्षक सी.ए राकेश खटेड लोगो को मौखिक जानकारी दी और पारसमल दुगड़, शान्तिलाल कोठारी, विमला दुगड़ ने लोगो को योग के प्रयोग कराया। इस अवसर पर तुलसी महाप्रज्ञ फाउंडेशन के मंत्री दलपत बाबेल कोषाध्यक्ष भेरूलाल चपलोत, की उपस्थिति रही। अगर कोई भाई बहन इस योग शिविर में शामिल होना चाहिए तो इच्छुक लोग जुड़ सकते है। यह योगा शिविर सोमवार तक चलेगा।