5 साल बाद मुस्लिम बीजेपी के साथ होंगे: फडणवीस

0
42

मुंबई:मुस्लिम आरक्षण को लेकर विधानसभा में मचे घमासान के बीच मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विरोधी दलों पर निशाना साधा। उन्होंने दावा किया कि पिछली सरकार की तुलना में इस सरकार ने अल्पसंख्यकों के लिए दोगुनी रकम खर्च की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच साल मुस्लिम समुदाय बीजेपी के साथ खड़ा नजर आएगा।
शुक्रवार को विधानसभा में मुस्लिम आरक्षण की मांग करते हुए एमआईएम के विधायक इम्तियाज जलील ने कहा कि हम मराठा और दूसरे पिछड़े समुदायों को आरक्षण दिए जाने का समर्थन करते हैं, लेकिन मुस्लिम समुदाय को भी आरक्षण मिलना चाहिए। उन्होंने कांग्रेस और एनसीपी पर घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप लगाते हुए कहा कि दोनों पार्टियों ने मुस्लिमों को वोट बैंक की तरह इस्तेमाल किया, लेकिन उनके विकास के लिए कोई काम नहीं किया।
वहीं विरोधी पक्ष नेता राधाकृष्ण विखे पाटील ने पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के बयान का हवाला देते हुए कहा कि मौजूदा समय में अल्पसंख्यक समाज खुद को असुरक्षित महसूस कर रहा है। उन्होंने सवाल किया कि कांग्रेस सरकार ने मुसलमानों को पढ़ाई में 5 फीसदी आरक्षण दिया था उसे क्यों हटाया दिया गया।
शोरशराबे के बीच मुख्यमंत्री फडणवीस ने कहा कि इस बात में कोई शक नहीं है कि पिछले 70 सालों में मुस्लिम समुदाय पिछड़ गया है, लेकिन उनकी सरकार की जो नीतियां हैं, उससे सरकार के 5 साल पूरे होने के बाद अल्पसंख्यक बीजेपी के साथ खड़े होंगे। मुस्लिम आरक्षण को लेकर सरकार की भूमिका स्पष्ट है। कई राज्य सरकारों ने मुसलमानों को आरक्षण दिया जिसे अदालतों ने खारिज कर दिया। हम संविधान से बंधे हुए हैं लेकिन मुस्लिम समुदाय को आरक्षण देने के लिए सरकार सकारात्मक है।
मुख्यमंत्री के जवाब से असंतुष्ट होकर और एमआईएम विधायक द्वारा कांग्रेस को खरीखोटी सुनने से चिढ़कर कांग्रेस विधायक शोर मचाने लगे, नारेबाजी करने लगे। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हम वोट की राजनीति नहीं करते, हमें इसकी जरूरत भी नही है क्योंकि हमने अल्पसंख्यक समुदाय में ऐसा विश्वास पैदा किया है कि वह अब हमारे साथ है, अब आप के साथ नहीं जाएंगे।